LLB Full Form in Hindi | LLB Course Details in Hindi

LLB Full Form in Hindi: हेल्लो दोस्तों ? स्वागत है आपका इस आर्टिकल में, दोस्तों आज हम लोग बात करने वाले हैं LLB Full Form in Hindi Kya Hai? साथी हम लोग LLB Course Details in Hindi के बारे में जानने वाले है यानी एलएलबी कोर्स से जुड़ी हर वह बातो के बारे में हमलोग जानेंगे जो जिसके लिए आप इस आर्टिकल में आए है।

तो चलिए एलएलबी से जुड़ी कोई भी बात जानने से पहले हम लोग यह जानकारी प्राप्त कर लेते हैं कि एलएलबी का फुल फॉर्म क्या होता है?

LLB Ka Full Form Kya Hai (LLB Full Form in Law)

LLB ka full form kya hai? की बात करें तो LLB full form “Bachelor of Legislative Law or Legum Baccalaureus” होता है। 

LLB Full Form in Hindi

वही LLP full form in Hindi यानी LLB meaning in Hindi की बात करें तो Bachelor of Legislative Law or Legum Baccalaureus meaning in Hindi होता है “कानून की स्नातक”

दोस्तों, LLB ka full form in Hindi के अलावा ऐसे भी बहुत सारे एलएलबी कोर्स से जुड़ी जानकारी है जिसके बारे में आपको जानना बहुत ही जरूरी है क्या आपको पता है कि:-

  • एलएलबी कोर्स क्या है?
  • एलएलबी कोर्स के फायदे क्या हैं?
  • Lawyer और  Advocate में क्या अंतर है? 
  • एलएलबी कोर्स कौन-कौन कर सकते हैं?
  • एलएलबी कोर्स में क्या पढ़ाया जाता है?
  • एलएलबी कितने प्रकार के होते हैं?
  • एलएलबी कोर्स कैसे करें?
  • एलएलबी कोर्स की duration क्या है?
  • एलएलबी कोर्स के बाद जॉब कहां मिलती है?
  • एलएलबी के बाद सैलरी कितनी मिलती है?

दोस्तों अगर आपको एलएलबी कोर्स से जुड़ी या सारी जानकारी नहीं पता है तो आप बिल्कुल भी चिंता ना करें क्योंकि आज हम लोग LLB Course in Hindi से जुड़े यह सारे प्रश्नों के बारे में जानने वाले हैं और मुझे पूरा विश्वास है कि एलएलबी क्या होता है? का यह आर्टिकल पूरा पढ़ने के बाद आपके मन में LLB Course Details in Hindi से जुड़े जितने भी सवाल है सारे सवालों के जवाब आपको इस आर्टिकल में मिल जाएगा।

LLB Course Kya Hai? (LLB Course Details in Hindi)

एलएलबी कानून का एक कोर्स है। एलएलबी का फुल फॉर्म Bachelor of Legislative Law यानी Legum Baccalaureus होता है।

एलएलबी कानून में एक स्नातक की डिग्री है। कानून से संबंधित सभी विषयों के बारे में पूरी जानकारी लॉ की कोर्स एलएलबी यानी बैचलर आफ लॉ में दी जाती है जिसे हिंदी में कानून की स्नातक डिग्री कहते हैं। 

हमारे समाज में अनुशासन और शांति व्यवस्था बनाए रखने का काम कानून का होता है। साथ ही समाज में होने वाले अपराधों और गलत कामों को रोकना भी कानून का काम है। एलएलबी एक अंडरग्रैजुएट डिग्री है जो कानून के नियमों (rules) और विनियमों (regulations) का एक समूह है, जिसके अंदर कोई भी समाज या देश चलता है यानी हम कह सकते हैं कि संचालित होता है। 

बैचलर ऑफ लॉ एक अंडरग्रेजुएट डिग्री है जिसमे स्टूडेंट्स को कानून के बारे पढ़ाया और सिखाया जाता है। L.L.B. कानून की डिग्री एक स्टूडेंट्स को वकील बनने या कानूनी विभाग में काम करने के लिए योग्य बनाती है।

दोस्तों जैसा कि आज कल हमे देखने को मिल रहा है की Law की डिग्री का चलन काफी तेजी से बढ़ रही है। आजकल बहुत सारे स्टूडेंट्स इस कोर्स पर जोर दे रहे हैं।

ऐसे में अगर आप एलएलबी कोर्स करने की सोच रहे हैं तो यह आपका काफी अच्छा decision है। एलएलबी कोर्स करके आप अपना कैरियर कानून के क्षेत्र में बना सकते हैं। और एक अच्छा वकील बन सकते है और ये बात तो किसी से छुपी नहीं है की वकालत में बहुत ज्यादा पैसा है यानि इसमें आप अच्छा खासा पैसा भी कमा सकते है।

लेकिन दोस्तों कोई भी कोर्स करने से पहले हमें उस कोर्स के बारे में पूरी अच्छी तरह से जानकारी प्राप्त कर लेना चाहिए इसलिए आपके लिए इस आर्टिकल को पूरे अंत तक पढ़ना काफी आवश्यक है और मुझे पूरा विश्वास है कि इस एलएलबी कोर्स का आर्टिकल को पूरा पढ़ने के बाद आपके मन में एलएलबी कोर्स से जुड़ी जितने भी सवाल है, उन सवालों का जवाब आपको इस आर्टिकल में मिल जाएगा।

तो चलिए दोस्तों अब हम लोग जानते हैं कि एलएलबी कोर्स के फायदे क्या हैं?

LLB Course Ke Fayde Kya Hai? (Benefits of LLB Course)

एलएलबी कोर्स करने के तो बहुत सारे फायदे हैं पर मैं कुछ ऐसे ही फायदे को बताना चाहती हूं जिससे आप अंदाजा लगा सकते हैं की आपके लिए एलएलबी कोर्स सही है या नहीं और आपको यह कोर्स करना चाहिए की नहीं। Actually कोई भी कोर्स खराब नहीं होते हैं लेकिन उसमे आपकी लगन होना चाहिए उसमें आपको अधिक से अधिक मेहनत करनी होगी, तभी आप उस कोर्स को पूरा करके सफलता प्राप्त कर सकते हैं। तो चलिए अब जानते हैं एलएलबी कोर्स के क्या फायदे हैं?

  • एलएलबी कोर्स करने के बाद आप कानून के अच्छे जानकार बन जाते हैं।
  • आपको कानून के नियमों के बारे में अच्छी जानकारी हो जाती है।
  • एलएलबी करने के बाद आप ग्रैजुएट कहलाते हैं।
  • यह एक वकालत ग्रेजुएशन की डिग्री है जिससे करने के बाद आपके पास वकालत की जानकारी का भंडार हो जाता है।
  • एलएलबी करने के बाद एक Lawyer बन जाते है।

Lawyer और  Advocate में क्या अंतर है? (Difference Between Lawyer And Advocate)

आसन शब्दों में कहे तो जो LLB यानी लॉ की पढाई पूरा करता है उसे Lawyer कहा जाता है वही जो किसी के केस के लिए कोर्ट में वकालत करता है वह Advocate कहलाता है।

ये जरुरी नहीं है हर Lawyer, Advocate बन जाए। किसी भी Lawyer को Advocate बनने के लिए बार काउंसिल में रजिस्ट्रेशन करवाना होता है और फिर बार की परीक्षा पास करनी होती है, जिसके बाद वो एडवोकेट बनता है।

एलएलबी कोर्स कौन-कौन कर सकते हैं? (Educational Qualification for LLB Course)

अगर आप एलएलबी कोर्स करना चाहते हो तो आपके पास कम से कम नीचे दी हुई योग्यता होना आवश्यक है तो ही आप लॉ की पढ़ाई आसानी से कर सकते हैं।

  • आपके पास 12वीं पास की सर्टिफिकेट होना अति आवश्यक है अगर आप 12वी के बाद एलएलबी करना चाहते हैं तो वह 5 साल का होता है।
  • अगर अब 12वीं के बाद एलएलबी करना चाहते हैं तो आपका कम से कम 12वी के रिजल्ट में 50% तक का अंक होना चाहिए।
  • अगर आप एलएलबी की 3 वर्ष की पढ़ाई करना चाहते हैं तो आपके पास ग्रेजुएट की डिग्री होना बहुत जरूरी है।
  • अगर आप ग्रेजुएशन के बाद एलएलबी कोर्स करना चाहते हैं तो आपका अंक कम से कम ग्रेजुएशन में 50% होना जरूरी है।
  • आपको बता दे की एलएलबी कोर्स Science, Commerce, Arts तीनो steam के स्टूडेंट्स कर सकते है।

एलएलबी कोर्स में क्या पढ़ाया जाता है?

दोस्तों,आइए अब जानते हैं कि एलएलबी कोर्स में क्या-क्या पढ़ाया जाता है।जिसमें से कुछ सामान्य सब्जेक्ट के नाम मैं आपको बता देती हूं;- 

  • पोलिटिकल साइंस
  • कॉन्ट्रैक्ट
  • जूरिसप्रूडेंस
  • कोड ऑफ सिविल प्रोसीजर
  • लीगल मेथड्स
  • लिटिगेशन एडवोकेसी

एलएलबी कोर्स कितने प्रकार के होते हैं?

एलएलबी कोर्स छः प्रकार के होते है:-

  1. क्रिमिनल लॉ
  2. कारपोरेट लॉ
  3. साइबर लॉ
  4. फैमिली लॉ
  5. बैंकिंग लॉ
  6. टेक्स्ट लॉ
  • क्रिमिनल लॉ:- यह एक बहुत ही ज्यादा प्रचलित कोर्स है जो बच्चे एलएलबी की पढ़ाई कर रहे हैं या फिर करना चाहते हैं तो उन सभी छात्रों को क्रिमिनल लॉ की पढ़ाई करना बहुत ही आवश्यक है। इस कोर्स के अंतर्गत छात्रों को सिखाया जाता है कि किसी भी क्रिमिनल द्वारा क्राइम की जाने पर उसके लिए देश में क्या-क्या कानून लागू है। तथा किस-किस घटना को हमारे कानून में क्राइम का दर्जा दिया गया है। अतः इस तरह की सारी जानकारी आपको क्रिमिनल लॉ की पढ़ाई में मिलेगी। कुछ लोगों का कहना है कि यह कोर्स बाकी कोर्स की तुलना में बहुत ही कठिन है। लेकिन हम आपको बता दें कि यह शुरुआत में थोड़ी मुश्किल तो होती है पर जैसे-जैसे आप इसमें में बढ़ते चले जाएंगे, यह कोर्स आपके लिए आसान बनता ही जाएगा तथा आपको इस कोर्स को पढ़ने में मन लगने लगेगा और यह आपके लिए दिलचस्प बन जाएगा।
  • कॉरपोरेट लाॅ:- आजकल के बच्चों में यह दूसरी कोर्स है जो कि छात्रों द्वारा बहुत ज्यादा मात्रा में पसंद की जाती है। इस कोर्स में आपको कॉरपोरेट्स दुनिया के नियम के बारे में बताया और सिखाया जाता है। तथा इसको से हमें यह भी बताया जाता है कि‌ कॉर्पोरेट की दुनिया को हम कैसे क्राइम से सुरक्षित रह सकते हैं और यहां होने वाले अपराधों को हम कैसे कम कर सकते हैं और इस देश को हम कैसे बेहतर बना सकते हैं?
  • साइबर लॉ:- इस कलयुग के दुनिया में आपने साइबर का नाम तो जरूर सुना होगा। आजकल यह क्राइम दिन प्रतिदिन बढ़ते जा रहे है। जहां मोबाइल और लैपटॉप की मदद से कई आर्थिक नुकसान भी देखने को मिल रहा है। साइबर लॉ के तहत इसमें हमें यह सीखने को मिलता है कि हमारे देश में साइबर अपराध के खिलाफ क्या कानून है तथा साइबर क्राइम को हम कैसे कम कर सकते हैं या फिर खत्म कर सकते हैं। अगर आज की हम बात करें या आज से 10-15 साल बाद की बात करें तो आजकल सबसे ज्यादा साइबरक्राइम ही होता है। जैसे-जैसे भारत डिजिटल बनता जा रहा है वैसे – वैसे साइबरक्राइम भी बहुत ज्यादा बढ़ रहा है।
  • फैमिली लॉ:- आप तो जानते ही होंगे कि आज हमारे समाज और परिवार के बीच में ही कई प्रकार के क्राइम होते हैं जैसे की जमीन के लिए भाई- भाई में झगड़ा होना, दहेज लेना और दहेज के लिए प्रताड़ित करना आदि। जो भी क्राइम एक फैमिली से जुड़ी होती है या दो या दो से अधिक फ़ैमिली के बीच होती है तो इस तरह के क्राइम को फैमिली कोर्ट में सुलझाया जाता है। फैमिली लॉ के अंतर्गत बताया जाता है कि किस-किस क्राइम को हम मान सकते हैं और किस-किस क्राइम को हम अपराध साबित कर सकते हैं। और वह अगर अपराध है तो उसकी सजा क्या होनी चाहिए। तलाक, गोद लेने, शादी, फैमिली पर्सनल प्रॉब्लम आदि जैसे इस क्षेत्र में जितने भी क्राइम होते हैं यह सभी फैमिली लॉ के अंतर्गत ही आते हैं।
  • बैंकिंग लॉ:- बैंकिंग लॉ के अंतर्गत बैंकिंग के क्षेत्र में जितने भी प्रकार के अपराध होते हैं जैसे कि लोन का ना चुकाना, बैंक से फ्रॉड करना आदि से जुड़े नियम और कानून हमें इस लॉ के अंतर्गत सिखाया जाता है तथा एक बैंक को किन किन नियमों का पालन करना पड़ता है यह सभी नियम कानून आपको बैंकिंग लॉ के अंतर्गत बताया जाता है।
  • टेक्स लॉ:- इस लॉ के अंतर्गत हमें भारत में लगने वाले जितने भी प्रकार के टैक्स है उन टेक्स के प्रति हमारे देश में क्या कानून बनी है तथा उन कानून के उल्लंघन करने वाले लोगों के लिए क्या सजा है इनका अध्ययन हमें टैक्स लॉ के अंतर्गत कराया जाता है। टेक्स के अंतर्गत बहुत से प्रकार के टैक्स आते हैं जैसे कि सर्विस टैक्स, इनकम टैक्स, सेल टैक्स आदि।

एलएलबी कोर्स कैसे करें ?

  1. एलएलबी कोर्स के लिए 12वीं पास करें:- एलएलबी की पढ़ाई करने के लिए सबसे पहले आपको 12वीं पास करना होगा। 12वीं की पढ़ाई आप किसी भी सब्जेक्ट को लेकर कर सकते हैं चाहे वह साइंस और आर्ट्स या कॉमर्स इन तीनों में कोई भी सब्जेक्ट को आप लेकर पढ़ाई कर सकते हैं। लेकिन अगर आपको एक वकील बनना है तो आप 12वीं के आर्ट्स में अच्छे अंक से उत्तीर्ण होने की कोशिश करें।
  1. एलएलबी कॉलेज के लिए एंट्रेंस एग्जाम दे और क्लियर करें:- आपको 12वीं पास करने के बाद एंट्रेंस एग्जाम देना आवश्यक है। एलएलबी कोर्स करने के लिए आपको एक एग्जाम देना होगा जो इंडिया मे सबसे ज्यादा पॉपुलर सीएलएटी एक एंट्रेंस एग्जाम है जिसका पूरा नाम कॉमन लॉ एंट्रेंस एग्जाम होता है। इस एग्जाम को देने के बाद आप एलएलबी कॉलेज में एडमिशन ले सकते हैं, जो पूरे 5 वर्ष की होती है। जैसे ही आप एंट्रेंस एग्जाम दे लेते हैं इसके बाद आपको क्लियर करना होता है। बस ऐसे ही आपका एंट्रेंस एग्जाम क्लियर हो जाता है। तो आपको एंट्रेंस एग्जाम की परीक्षा के मार्क्स के अनुसार आपको एलएलबी की यूनिवर्सिटी प्रदान किया जाता है। अब आप एडमिशन लेना चाहते हैं तो ले सकते हैं।
  1. एलएलबी की पूरी पढ़ाई करना आवश्यक है;- जैसे ही आपका एलएलबी के यूनिवर्सिटी में एडमिशन हो जाता है तो आपको पूरी मेहनत, लगन और ध्यान से पढ़ाई करने की जरूरत है ताकि आप अच्छे अंको से उत्तीर्ण हो सके।लेकिन आपको इस बात का पूरा ध्यान रखना होगा कि आप अपनी पढ़ाई पूरे अच्छी तरह से करें तभी आप को अच्छी सैलरी में जॉब मिलेगी। अतः इसकी मदद से आप एक अच्छे और सच्चे वकील बन सकते हैं।

एलएलबी कोर्स की फीस कितनी है? (LLB Course Fees)

एलएलबी कोर्स में फीस की बात करे तो इसमें हर कॉलेज में अलग अलग फीस होती है यदि आपका एडमिशन कोई सरकारी कॉलेज में होती है तो इसमें आपको बहुत ही कम फीस देनी पड़ती है वही यदि आपका एडमिशन कोई प्राइवेट कॉलेज में होती है तो इसमें आपको एक साल में लगभग ₹30000 से ₹50000 तक फीस होती है।

एलएलबी कोर्स की अवधी कितनी होती है? (LLB Course Duration)

एलएलबी कोर्स में एडमिशन के लिए दो ऑप्शन है एक 3 साल का कोर्स है जिम के लिए न्यूनतम पत्रता ग्रेजुएशन डिग्री है और दूसरा स्नातक के छात्रों के लिए 5 साल का कोर्स है जिसे हम लोग एलएलबी इंटीग्रेटेड कोर्स भी कहते हैं।

एलएलबी कोर्स के बाद जॉब कहां मिलती है?

एलएलबी कोर्स को कर लेने के बाद आपको अलग-अलग क्षेत्रों में जॉब मिलती है जैसे कि नीचे दिए हुए हैं:-

  • Legal advisor
  • Judiciary
  • Politics
  • Legal researcher
  • Legal analyst
  • Writer of law book
  • Reporter of journalist
  • Private company
  • Legal outsourcing
  • Government services
  • Teaching

LLB के बाद सैलरी कितनी मिलती है? (LLB Salary Details)

यह कोर्स पूरा करने वाले छात्र की सैलरी उनके कौशल पर निर्भर करती है, इस क्षेत्र में शुरुआत की सैलरी आपके कौशल पर निर्भर करती है क्षेत्र में आपकी सामान्य तौर पर सैलरी 15000 से रुपए तक हो सकती है, और कुछ अनुभव हो जाने के बाद आपकी सैलरी 40000 से 60000 रुपए तक हो सकती है। और ऐसे पैकेज अलग-अलग कारकों जैसे कि कंपनी, शिक्षा, उम्मीदवार की कौशल, काम के अनुभव आदि पर निर्भर करती है। साथ ही आपको बता दे की वकील एक ऐसा पैसा है जिसमे इनकम का कोई लिमिट नहीं आप अपने काबिलियत के हिसाब से इसमें लाखो कमा सकते है।

तो दोस्तो यह है एलएलबी की पूरी जानकारी जिसमें हमलोग LLB Full Form in Hindi के साथ – साथ एलएलबी के बारे में वह सारी जानकारी के बारे में जाने जिसकी आपको तलाश थी दोस्तो आशा करती हूं कि आप एलएलबी से जुड़ी दी गई जानकारी से आप संतुष्ट है और आपके मन में एलएलबी से जुड़े जितने भी सवाल थे सारे सवालों के जवाब मिल गया होगा।

एलएलबी का फुल फॉर्म क्या है?

एलएलबी का फुल फॉर्म “Bachelor of Legislative Law or Legum Baccalaureus” होता है। जिसका हिंदी में अर्थ “कानून की स्नातक” होती है।

एलएलबी कोर्स क्या है?

एलएलबी कानून में एक स्नातक की डिग्री है। कानून से संबंधित सभी विषयों के बारे में पूरी जानकारी लॉ की कोर्स एलएलबी यानी बैचलर आफ लॉ में दी जाती है जिसे हिंदी में कानून की स्नातक डिग्री कहते हैं।

एलएलबी कोर्स की फीस कितनी है?

एलएलबी कोर्स की फीस सरकारी कॉलेज में बहुत कम होती है वही प्राइवेट कॉलेज में इसकी फीस लगभग ₹30000 से ₹50000 तक फीस होती है।

एलएलबी कोर्सकी अवधी कितनी है?

एलएलबी कोर्स में एडमिशन के लिए दो ऑप्शन है एक 3 साल का कोर्स है जिम के लिए न्यूनतम पत्रता ग्रेजुएशन डिग्री है और दूसरा स्नातक के छात्रों के लिए 5 साल का कोर्स है जिसे हम लोग एलएलबी इंटीग्रेटेड कोर्स भी कहते हैं।

Lawyer और Advocate में क्या अंतर है?

जो LLB यानी लॉ की पढाई पूरा करता है उसे Lawyer कहा जाता है वही जो किसी के केस के लिए कोर्ट में वकालत करता है वह Advocate कहलाता है।

इनके अलावा भी दोस्तो अगर आपके मन में ALP से जुड़ी किसी भी प्रकार का सवाल है तो आप हमें comments करके पूछ सकते है और मै पूरा कोशिश करूंगी की आपके सारे सवालों का जवाब दे सकूं।

दोस्तों, इसी प्रकार के informative articles के लिए हमारे साथ जुड़े रहे!

आपका बहुत-बहुत धन्यवाद…!!!???

1 thought on “LLB Full Form in Hindi | LLB Course Details in Hindi”

  1. मेने बी.ए. फाइनल कर लिया हैं पोलिटिकल , इतिहास ,हिन्दी मे तो अब आगे कौनसे विषय मे करनी होगी

    Reply

Leave a Reply

Copy not allowed ?