अप्रेंटिस क्या है? कैसे करें? What is Apprentice in Hindi

Table of Contents (विषयसूची)

Apprentice Kya Hai – Apprentice Meaning in Hindi

अप्रेंटिस क्या है? (Apprentice meaning in hindi) दोस्तों अक्सर आपने अपने दोस्तों से या किसी और से सुना होगा अप्रेंटिसशिप के बारे में, साथ ही आपने यह भी देखा होगा कि Railway Apprentice, ONGC, SAIL, IOCL, BPCL, Ordnance Factory, TATA Steel, SBI जैसी आदि संस्थाएं अप्रेंटिस की काफी सारी भर्तियां यानी Apprentice Vacancies निकालते रहती है! 

दोस्तों आजकल अप्रेंटिसशिप का डिमांड काफी तेजी से बढ़ता जा रहा है और अप्रेंटिस किसी भी candidates को शुरुआती Job दिलाने में काफी मददगार साबित हो रहा है! 

दोस्तों अगर आपके मन में भी अप्रेंटिसशिप को लेकर किसी प्रकार का doubts है  जैसे अप्रेंटिस क्या है? अप्रेंटिस कैसे करें?, अप्रेंटिस के फायदे क्या है? अप्रेंटिसशिप के लिए Apply कैसे कर सकते हैं? तो दोस्तों यह blog आपके लिए ही बना है और मुझे पूरा विश्वास है कि आपको यह blog पूरा पढ़ने के बाद आपके सारे Doubts Clear हो जाएंगे और अप्रेंटिसशिप से जुड़ी किसी भी जानकारी के लिए आपको कोई और blog नहीं पढ़ना पड़ेगा!

दोस्तों साथ ही हम लोग इस Blog में अप्रेंटिस क्या है? के साथ-साथ  यह भी जानेंगे कि आपको अप्रेंटिसशिप क्यों करना चाहिए? अप्रेंटिसशिप कहां से करें? अपेंटिस कितने प्रकार के होते हैं?  अपेंटिस कौन-कौन कर सकते हैं  Apprenticeship ACT क्या है? अप्रेंटिस की शुरुआत कब हुई? अप्रेंटिस की शुरुआत क्यों हुई? आदि के बारे में

दोस्तों हम लोगों को  कोई भी Course या Program करने से पहले उसके बारे में पूरी अच्छी तरह से जानकारी प्राप्त करना बहुत जरूरी होता है क्योंकि अक्सर ऐसा देखा जाता है कि आधी अधूरी जानकारी के साथ कुछ भी किया गया कार्य से हमें बाद में काफी तकलीफ़ होती है इसलिए चलिए अप्रेंटिस क्या है? और इससे जुड़े पूरे जानकारी के बारे में आज हम लोग पूरी अच्छी तरह से जानते हैं!

अप्रेंटिस क्या है? कैसे करें? What is Apprentice in Hindi

अप्रेंटिस क्या है? Apprentice kya hai in Hindi

आसान भाषा में अप्रेंटिस क्या है? (Apprentice in hindi) कहें तो अप्रेंटिस एक प्रकार का Training Program होता है जिसमें किसी उम्मीदवार या Candidate को किसी Organization या Industry में एक Worker की तरह वहां का कार्य सिखाया जाता है, Training कराया जाता है! 

अप्रेंटिस के द्वारा कंपनी Fresher Candidates को मौका देती है कि वह अपने Skill, योग्यता को बढ़ा सकें और अपने आप को  एक Fresher से  एक Skilled Worker में Convert कर सके!

Apprentice का हिंदी में अर्थ होता है (Apprentice meaning in hindi) प्रशिक्षु, और इस पूरी Training प्रक्रिया को कहा जाता है Apprenticeship जिसे हिंदी में (Apprenticeship meaning in hindi) प्रशिक्षण कहा जाता है अप्रेंटिसशिप में छात्रों को क्लास रूम से बाहर निकलकर अपना कौशल को बढ़ाने का एक सुनहरा मौका दिया जाता है! 

अप्रेंटिस की अवधि यानी Duration, 6 महीने से लेकर 3 साल तक का होता है कई बार अप्रेंटिस की अवधि 4 साल का भी होता है!  अलग अलग Organisation या Industry अलग अलग अवधि का Apprentice Training Program निकालती है!

अप्रेंटिसशिप में एक Candidate को एक Worker की तरह काम करने का मौका दिया जाता है इसका मतलब यह नहीं है कि उन्हें Skilled Worker की तरह मेहनत  कराया जाता हो! अप्रेंटिस एक प्रकार का Program या कहे तो एक Course ही है जिसका Main उद्देश्य Candidate का Skill को Develope करने का होता है!

Apprentice Training Program को इस प्रकार बनाया गया है कि इसमें  केवल 20-30% ही Theory Knowledge पर ध्यान दिया जाता है और बाकी 70-80% Practical Knowledge पर ध्यान  दिया जाता है!

दोस्तों जैसा कि हम लोग अप्रेंटिस क्या है? के बारे में जान गए, तो चलिए अब हम लोग अप्रेंटिस के फायदे के बारे में जानते हैं कि हम लोगो को अप्रेंटिस क्यों करना चाहिए?

अप्रेंटिस ट्रेनिंग के फायदे  क्या है? (Benefit of Apprentice Training)

हम लोग अप्रेंटिस क्या है? के बारे में जान रहे हैं जब भी हम लोग कोई नया Cource या Program के बारे में जानते हैं तो सबसे पहले हम लोगों के Mind यह सवाल आता है कि इसके फायदे क्या है? और यह सवाल आना बहुत जरूरी भी है  क्योंकि जो काम हम कर रहे हैं अगर उसका फायदा हमें आने वाले समय में नहीं होगा तो वैसा काम को हमें करना ही नहीं चाहिए! 

इसलिए जब भी हम लोग अप्रेंटिस क्या है? के बारे में सुनते हैं तो हम लोगों के दिमाग में सबसे पहले यह प्रश्न आता है कि हम लोगों को अप्रेंटिस क्यों करना चाहिए? या अप्रेंटिस के फायदे क्या है? अप्रेंटिस के फायदे की बात करें तो जैसा कि हम सभी को पता है कि आजकल Jobs को लेकर छात्रों में काफी  ज्यादा Competition हो चुका है! सरकारी नौकरी के साथ-साथ प्राइवेट नौकरी में भी काफी ज्यादा Competition देखने को मिल रही है!

किसी भी Company या Industry में किसी एक पद के लिए काफी सारे उम्मीदवार आवेदन करते हैं तो जाहिर सी बात है कि कंपनी सबसे बेस्ट उम्मीदवार को ही अपने कंपनी में Job देना चाहेगा जिसमें कंपनी देखेगी की उम्मीदवार के पास Theory Knowledge के साथ-साथ Practical Knowledge भी है कि नहीं, कोई Experience वगैरह है कि नहीं!

ऐसे Situation में आपको अप्रेंटिस ट्रेनिंग काफी मदद कर सकती है क्योंकि कंपनी एक Fresher Candidate को Job देने के बचाए एक अप्रेंटिस ट्रेनिंग  किया हुआ Candidate को Job  देना ज्यादा पसंद करेगी! क्योंकि Fresher Candidate के मुकाबला Apprentice Training प्राप्त कर चुके Candidate के पास ज्यादा Practical Knowledge या यू कहे तो  एक कंपनी में Work Experience होगी! ऐसे में Apprentice Training प्राप्त कर चुके Candidate को Job पाने का ज्यादा Chance होगा!

सीखते समय कमाई – Earn when you learn Apprenticeship

अप्रेंटिस क्यों करना चाहिए? या अप्रेंटिस के फायदे क्या है? में एक सबसे अच्छा फायदा यह है कि इसमें आप सीखते समय पैसा (Money) भी कमाते हैं! यानी Apprentice Training के दौरान आपको Stipend के रूप में Salary भी दी जाता है ! इसमें 

  • Graduate Apprentice  यानी B.E./B.Tech Candidates को लगभग ₹9000 Stipend दिया जाता है!
  • Technician Apprentice  यानी Diploma Candidates को लगभग ₹8000 Stipend दिया जाता है! 
  • Trade Apprentice  यानी ITI Candidates को लगभग ₹5000 Stipend दिया जाता है!

इसके अलावा Other Stream के Candidates को भी लगभग ₹5000-9000 Stipend दिया जाता है! आपको बता दें कि अलग-अलग कंपनी का अलग-अलग Stipend Rate होता है कई कंपनियां इससे ज्यादा भी Stipend देती है!

वास्तविक कार्य अनुभव प्राप्त करें

Apprentice Training  के द्वारा आप जो भी Industry चुनते हैं उस Industry में आपको वास्तविक कार्य अनुभव प्राप्त करने का मौका दिया जाता है यानी Industry में आप एक Worker की तरह Real Work Experience प्राप्त कर सकते हैं! जिससे आपके Skill, योग्यता में काफी Improvement आएगा जो Future में आपका काफी काम आएगा!

अप्रेंटिस ट्रेनिंग के बाद Job मिलने में आसानी

किसी भी कंपनी या Industry में एक Fresher Candidate के मुकाबले Apprentice Training  प्राप्त किया हुआ Candidate को ज्यादा पसंद किया जाता है इसलिए Apprentice Training किया हुआ Candidate का Job मिलने का Chance ज्यादा होता है!

अक्सर ऐसा भी देखा जाता है कि Candidate जिस कंपनी में Apprentice Training  करता है  उसी कंपनी में Training पूरा होने के बाद उसे Permanent Job पर भी रख लिया जाता है! 

इसके साथ ही बहुत सारे Government और Private Organisation या Industry अलग से अप्रेंटिस Candidates के लिए भर्ती यानी Aprenticeship Vacancies  भी निकाली है! 

अप्रेंटिस ट्रेनिंग कितने प्रकार के होते हैं? (Type of Apprentice Training)

हम लोग पढ़ रहे हैं Apprentice Kya Hai इसके साथ ही हम लोगों को यह भी जानना बहुत जरूरी है कि अपेंटिस कितने प्रकार के होते हैं? तो चलिए जानते हैं कि अप्रेंटिस कितने प्रकार के होते हैं?

अप्रेंटिस काफी प्रकार के होते हैं? हर क्षेत्र में Candidates को अलग-अलग प्रकार का Apprentice Training करने का मौका दिया जाता है ताकि वह अपने Skill,योग्यता को निखार सके, और Market के Demand के हिसाब से अपने आप को Improve कर सके! 

Graduate Apprentice: Graduate Apprentice, Engineering में Graduation पास होने वाले Candidates के लिए होता है यानी B.E./B.Tech वाले छात्र यह अप्रेंटिस कर सकता है!

Technician Apprentice: Technician Apprentice, मुख्यतः Diploma in Engineering यानी Polytechnic वाले छात्र यह अप्रेंटिस कर सकता है!

Trade Apprentice: Trade Apprentice, अप्रेंटिस क्षेत्र में सबसे Popular अप्रेंटिस है! यह अप्रेंटिस मुख्यतः ITI छात्रों के लिए बनाया गया है यानी ITI पास वाले छात्र यह अप्रेंटिस कर सकता है! इसलिए  काफी सारे लोग इसे ITI Apprentice के नाम से भी जानते हैं! 

इसके अलावा भी बहुत प्रकार के अप्रेंटिस कराया जाता है! Agriculture, Horticulture, Arts, Media, Business, Administration and Law, Construction, Education, Health, Public Services and Care आदि क्षेत्रों में Candidates के Skill को Develope करने के उद्देश्य से विभिन्न प्रकार के अप्रेंटिस Program कराया जाता है!

Apprenticeship कौन-कौन कर सकते हैं?

अप्रेंटिस क्या है? अपरेंटिस के फायदे क्या है? के बारे में जानते ही हमारे दिमाग में यह सवाल उठता है कि अप्रेंटिस कौन-कौन कर सकते हैं? तो इसके बारे में बात करें तो जैसा कि मैंने आप लोगों को बताया कि Engineering में Graduation यानी B.E./B.Tech पास Candidates, Graduate Apprentice कर सकता है|

Diploma in Engineering यानी Polytechnic पास वाले Candidates, Technician Apprentice कर सकता है वही ITI पास Candidates, Trade Apprentice यानी ITI Apprentice कर सकता है |

इसके अलावा 10+2 पास छात्र 10+2 Technician Vocational Apprentice कर सकता है! इसके साथ ही कोई भी Candidate जिसने 14 वर्ष की आयु पूरी कर ली है, शारीरिक रूप से स्वस्थ हो और अपनी न्यूनतम शैक्षिक योग्यता  प्राप्त कर लिया हो Apprentice कर सकता है!

दोस्तों आपको बता दे  की पढ़ाई पूरा होने के 3 साल के अंदर ही अप्रेंटिस कर लेना चाहिए क्योंकि पढ़ाई  पूरा किया हुआ 3 साल से ज्यादा  हो जाने पर बहुत सारे Industry अप्रेंटिसशिप करने का मौका नहीं देती है! इसलिए यदि आपको Apprentice Training करना है तो पढ़ाई पूरा होने के 3 साल के अंदर ही कर लेना चाहिए!

इसके साथ ही कुछ ऐसे भी कंपनी है  जो 3 साल से ज्यादा Passout Candidates को भी अप्रेंटिसशिप करने का मौका देती है!

आपको बता दें कि अप्रेंटिस आप केवल एक ही बार कर सकते हैं एक से ज्यादा अप्रेंटिस करने के लिए आप आवेदन नहीं कर सकते हैं! इसलिए जब भी आप अप्रेंटिस करने के लिए कोई Organisation या Industry का चुनाव करें तो सोच समझ कर चुनाव करें! जिसमें आपकी रुचि हो और जिस क्षेत्र में आपको आगे जाकर काम करना हो वहीं क्षेत्र में अप्रेंटिस करें!

अप्रेंटिस कैसे करें? या अप्रेंटिसशिप के लिए आवेदन कैसे करें? (Apprenticeship Registration)

अप्रेंटिस क्या है? के साथ-साथ एक सवाल यह भी आता है कि अप्रेंटिस कैसे करें? Apprentice Registration या अप्रेंटिसशिप के लिए आवेदन कैसे करें? अप्रेंटिस के लिए आवेदन करना बहुत ही सरल है  इसके लिए आप घर बैठे Online माध्यम से आवेदन कर सकते हैं!

Engineering में Graduation और Diploma पास यानी B.E./B.Tech और Polytechnic के छात्र National Apprenticeship Training Scheme (NATS) के Official Website https://portal.mhrdnats.gov.in/ पर  जाकर Online आवेदन कर सकते हैं!

ITI पास छात्र Ministry of Skill Development And Entrepreneurship के Official Website https://www.apprenticeship.gov.in/  पर जाकर Trade Apprentice यानी ITI Apprentice के लिए Online आवेदन कर सकते हैं!

इसके अलावा बहुत सारी Government और Private Organisation  जैसे Railway Apprentice, ONGC, SAIL, IOCL, BHEL, BPCL, Ordnance Factory, TATA Steel, SBI आदि अप्रेंटिस की भर्ती  यानी Vacancy निकलती है जिसका आवेदन भी आप Online कर सकते हैं!  कई बार आवेदन Offline भी लिया जाता है डाक के माध्यम से! 

अप्रेंटिस चयन प्रक्रिया (Apprentice Selection Process)

जब हमारे दिमाग में अप्रेंटिसशिप क्या है (Apprenticeship Meaning in hindi) का विचार आता है तो इसके साथ ही और भी कई सारे सवाल हमारे दिमाग आने लगते हैं  जिसमें से एक है अप्रेंटिस चयन प्रक्रिया यानी Apprenticeship के लिए Selection Process क्या है? इसमें कोई Exam वगैरह लिया जाता है या सीधी भर्ती के द्वारा उम्मीदवार का चयन किया जाता है!

Apprenticeship के लिए Candidates का चयन ज्यादातर सीधी भर्ती यानी Merit List के आधार पर किया जाता है! इसमें आपको कोई Exams वगैरह देने की जरूरत नहीं होती है आप जिस Qualification के Basis पर अपरेंटिस के लिए आवेदन करते हैं उसी Qualification Marks के हिसाब से Merit List बनाया जाता है और Candidates को चयन के लिए बुलाया जाता है! इसमें कई बार छोटा मोटा Interview लिया जाता है या कई बार तो बिना Interview का भी Direct Merit List के आधार पर Selection हो जाता है!

मगर कुछ ऐसे भी Industry या Company है जो एक Basic सा Written Examination के द्वारा Apprenticeship के लिए Candidates का Selection करती है! जब कोई अपेंटिस के लिए Form निकलती है तो उसमें Mention कर  दिया जाता है कि Candidates का Selection किस आधार पर होगा! 

दोस्तों हम लोग पढ़ रहे हैं अप्रेंटिस क्या है? तो चलिए जानते हैं कि अप्रेंटिस की शुरुआत कब हुई और इसकी शुरुआत क्यों की गई!

अप्रेंटिस की शुरुआत कब हुई?

अप्रेंटिस (Apprentice meaning in hindi) की शुरुआत कब हुई? के बारे में बात करें तो आपको बता दें कि भारत में अप्रेंटिस की शुरुआत सबसे पहले साल 1961 में किया गया था लेकिन इसका Implement यानी लागू साल 1962 में किया गया था तब केवल Trade Apprentice की शुरुआत की गई थी यानी शुरुआत में केवल Trade Apprentice की ही व्यवस्था की गई थी!

इसके बाद साल 1973 में Apprenticeship ACT में संशोधन किया गया और दो नया Category Graduate Apprentice एवं Technician Apprentice को जोड़ा गया!

इसके बाद Apprenticeship ACT में एक और संशोधन किया गया 1986 में, जिसमें 10+2 Technician vocational Apprentice की व्यवस्था की गई थी! 

Apprenticeship ACT में समय-समय पर संशोधन किया जाता है अभी हाल ही में जो 2019 में संशोधन किया गया था उसमें Apprentice Training के दौरान मिलने वाली Stipand को बढ़ाया गया है! 

भारत के साथ-साथ Apprentice Training  की व्यवस्था पाकिस्तान, ऑस्ट्रेलिया, ऑस्ट्रिया, जर्मनी, UK  जैसे आदि देशों में भी किया गया है! 

अप्रेंटिस की शुरुआत क्यों हुई? (Importance of Apprentice)

Apprentice Kya Hai(अप्रेंटिस क्या है) के बारे में जानते समय हम लोगों के दिमाग में यह सवाल भी आता है कि आखिर अपरेंटिस की शुरुआत क्यों किया गया, इसकी जरूरत क्यों पड़ी? अपरेंटिस की शुरुआत करने के पीछे का मुख्य उद्देश्य था लोगों के Skill को विकसित करना!

जब भारत में कल कारख़ानों की वृद्धि होने लगी तब उसमें काम करने के लिए Worker का Demand भी काफी तेजी से बढ़ने लगी! लेकिन उस समय भारत का लगभग 90% से भी ज्यादा लोग कृषि पर आधारित था लोगों का कल कारख़ानों में काम करने के प्रति जागरूक या रुचि बहुत कम थी और अगर किसी में रूचि थी भी तो उसे काम करने का कोई अनुभव नहीं था! 

इसीलिए लोगों का कल कारख़ानों में काम करने के प्रति रुचि को बढ़ाने और कल कारख़ानों में काम करने लायक कौशल बढ़ाने के लिए इसकी शुरुआत किया गया था! ताकि लोग अपने Skill को बढ़ाकर कल कारख़ानों में काम कर सकें! 

अप्रेंटिसशिप के कुछ महत्वपूर्ण बातें

जैसा कि हम लोगों ने अप्रेंटिस क्या है?, अप्रेंटिस के फायदे क्या है? अप्रेंटिस कितने प्रकार के होते हैं?  अप्रेंटिस कौन-कौन कर सकते हैं? अप्रेंटिस कैसे करें? या अप्रेंटिसशिप के लिए आवेदन कैसे कर सकते हैं? अपेंटिस की शुरुआत कब हुई? अप्रेंटिस की शुरुआत क्यों हुई? Apprentice meaning in hindi आदि प्रश्नों का जवाब जान चुके हैं  तो चलिए अब Apprenticeship Training से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण बातों को भी जान लेते हैं!

अप्रेंटिसशिप पूरा होने के बाद आप जिस Organisation या Industry से अप्रेंटिस की ट्रेनिंग प्राप्त करते हैं वहां आपको एक Certificate दिया जाता है जिससे पता चलता है कि आपने उस कंपनी में इतना अवधि के लिए अप्रेंटिस ट्रेनिंग प्राप्त किए हैं!  जो कि आपके Experience  का एक प्रमाण पत्र होता है!  फिर वह Experience प्रमाण पत्र आपको कहीं Job दिलाने में काफी मदद करती है!

अक्सर ऐसा भी देखा जाता है कि Candidate जिस कंपनी में Apprentice Training  करता है  उसी कंपनी में Training पूरा होने के बाद उसे Permanent Job में रख ले जाता है! लेकिन यह कंपनी के हाथ में होता है कि वह आपको Permanant Job पर रखें कि नहीं! अगर मान लीजिए कि कंपनी आपको Job पर नहीं रखती है तो आप कंपनी के ऊपर कोई Claim नहीं कर सकते हैं कि वह आपको Permanent Job पर रखें! या Permanent Job Provide करें! 

जैसा कि कंपनी आपके ऊपर Apprentice Training  के दौरान काफी पैसा खर्च करती है इसलिए कंपनी नहीं चाहती है कि वह अच्छे Candidates को अपने कंपनी से जाने दें इसलिए कंपनी भी चाहती है कि वह अच्छे Candidates को Permanant Job पर रख ले! इसके लिए ट्रेनिंग के दौरान आपका Image और Performance अच्छा होना चाहिए!

Also Read/इसे भी पढ़ें: 

Polytechnic Kya Hai? कैसे करे? Polytechnic in Hindi 

Tour of Duty Kya Hai? और कैसे करें?

Frequently Asked Questions (FAQs)

Q. अपरेंटिस क्या है?

Ans. अप्रेंटिस एक प्रकार का Training Program होता है जिसमें किसी उम्मीदवार या Candidate को किसी Organization या Industry में एक Worker की तरह वहां का कार्य सिखाया जाता है, Training कराया जाता है ताकि वह अपने Skill को Develope कर सकें!

अप्रेंटिस करने के क्या फायदा हैं?

सीखते समय कमाई,
वास्तविक कार्य अनुभव प्राप्त करें,
Job मिलने में आसानी,
अपनी Skill को बेहतर बनाएं,
बड़ी इंडस्ट्री या कंपनी में काम करने का मौका|

अप्रेंटिस के लिए आवेदन कैसे करें?

अप्रेंटिसशिप के लिए आवेदन करना बहुत ही सरल है इसके लिए आप घर बैठे Online माध्यम से नीचे दी गई वेबसाइट में जाकर आवेदन कर सकते हैं!
www.portal.mhrdnats.gov.in
www.apprenticeship.gov.in

दोस्तों उम्मीद करता हूं कि आपको Apprentice Kya Hai का यह Article काफी Informative और अच्छा लगा हो, अगर आपके मन में अप्रेंटिस क्या है से Relative कोई भी प्रश्न हो तो आप नीचे Comments करके वह प्रश्न पूछ सकते हैं  मैं पूरा कोशिश करूंगा कि आपके उस प्रश्न का उत्तर दे सकूं|

इसी तरह का Informative Articles के लिए हमे Subscribe kare हमारे साथ जुड़े रहे और इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ SHARE जरूर करें!

धन्यवाद!!!

Leave a Reply

Copy Not Allowed 😊