NGO Ka Full Form in Hindi

NGO Ka Full Form in Hindi: हेल्लो दोस्तों स्वागत है आपका हमारे इस आर्टिकल में, दोस्तों आज हम लोग बात करने वाले है  NGO ka full form in hindi के बारे में साथ ही इस आर्टिकल में हम लोग NGO in hindi से जुड़ी पूरी जानकारी के बारे जानने वाले है। 

तो चलिए NGO के बारे में कुछ जानने से पहले जानते है की NGO ka full form kya hai?

एनजीओ का फुल फॉर्म क्या है? (NGO Ka Full Form in Hindi)

एनजीओ का फुल फॉर्म “Non Governmental Organization” होता है वही NGO full form in hindi यानी हिंदी में एनजीओ का अर्थ (NGO meaning in hindi) “गैर सरकारी संगठन” होता है। 

दोस्तों NGO ka full form in hindi के अलावा भी NGO के बारे ऐसे बहुत सारी जानकारी है जिसकी जानकारी होना आपके लिए काफी जरूरी है। दोस्तों क्या आपको पता है की 

  • एनजीओ क्या है?
  • एनजीओ के उद्देश्य क्या है? 
  • एनजीओ के कार्य क्या होता है?
  • एनजीओ कितने प्रकार के होते है?
  • एनजीओ शुरू कैसे करे?
  • एनजीओ रजिस्ट्रेशन कैसे करे?
  • एनजीओ रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया क्या है?
  • एनजीओ रजिस्ट्रेशन फीस कितनी है? 

दोस्तों अगर आपको एनजीओ से जुड़ी यह सारी जानकारी पता नहीं है तो आपको यह आर्टिकल पूरा अंत तक जरुर पढ़ना चाहिए और मुझे पूरा विस्वास है की यह आर्टिकल पूरा पढ़ने के बाद आपके मन में NGO kya hai को लेकर जितने भी प्रश्न है आपके सारे प्रश्नों के उत्तर आपको इसी आर्टिकल में मिल जाएंगे।

एनजीओ क्या है? (NGO in Hindi)

NGO Kya Hai?: NGO एक गैर सरकारी संगठन यानी Non Governmental Organization होता है यानी एक ऐसा संगठन जिसमे सरकार के किसी भागीदारी के बिना ही देश में समाज में मानव जाति के कल्याण के लिए विभिन्न प्रकार के सामाजिक कार्य किए जाते है जिससे समाज का कल्याण हो सके। 

NGO एक गैर लाभकारी संगठन होते है जिसमे लोग बिना किसी स्वार्थ भाव के समाज के प्रति कुछ करने की जज्बा रखते है और समाज के विभिन्न क्षेत्रों में अपना योगदान देकर समाज में कल्याणकारी काम करते है जिससे समाज का भला हो सके। 

एनजीओ के उद्देश्य क्या है?

किसी भी एनजीओ का सबसे बड़ा और सबसे मुख्य उद्देश्य होता है बिना किसी स्वार्थ यानि लाभ के समाज के प्रति कुछ करने की चाह।

एनजीओ का उद्देश्य समाज के उन लोगों वर्गों के लिए काम करना होता है जिसका समाज में कोई नहीं होता है जैसे वृद्ध और अनाथ बच्चों को सहारा देना, गरीबों को खाना उपलब्ध कराना, बीमारी से जूझ रहे लोगों के लिए काम करना, आवारा जानवरों की देखभाल करना आदि। 

एनजीओ का उद्देश्य समाज के प्राकृतिक समस्याओं को दूर करने पे जोर देना भी होता है जैसे पेड़-पौधे लगाना, जल संरक्षण के लिए काम करना, प्रदूषण को रोकने के लिए कदम उठाना आदि।

एनजीओ का काम क्या होता है?

समाज में NGO का काम बहुत ही महत्वपूर्ण होता है NGO समाज में ऐसे बहुत सारे कार्य करते है जिससे समाज का कल्याण होता है आज कल हम अपने आस पास भी ऐसे बहुत से NGO’s को देखते है जो समाज में बहुत ही अच्छा काम करते है। जैसे 

अनाथ और गरीब बच्चो को पढ़ना। 

समाज में हमे ऐसे बहुत से NGO देखने को मिल जाते है जो अनाथ और गरीब बच्चो को पढ़ाने का काम करते है जिससे शिक्षा समाज के सभी बच्चो तक पहुँच सके और कोई भी अनाथ और गरीब बच्चो शिक्षा से वंचित ना रह पाए और इसके लिए NGO स्कूल बनवाते है और उसमे बच्चो को फ्री में पढ़ाते है साथ की बच्चो को पढ़ने के लिए जरुरी सामानों जैसे कॉपी, किताब, स्कूल ड्रेस, स्कूल बैग आदि फ्री में देते है ताकि बच्चे बिना किसी परेशानी के अपनी पढाई कर सके।  

वृद्धा आश्रम चलाना।

समाज में ऐसे बहुत सारे NGO होते है जो समाज में बुजुर्गों का सहारा बनते है यानी ऐसे बुजुर्ग लोग जिनका कोई नहीं होता या जिन्हें उनके घर वालो छोड़ देते है वृद्धा आश्रम में ऐसे बुजुर्गों को रखा जाता है और उनके रहने खाने का प्रबंध किया जाता है ताकि बेसहाय बुजुर्गों को अपनी वृद्धा अवस्था में रहने और खाने के लिय कही भटकना ना पड़े।

अनाथ आश्रम चलाना।

समाज में ऐसे बहुत सारे NGO होते है जो समाज में अनाथ बच्चों का सहारा बनते है यानी अनाथ बच्चों के रहने खाने पढ़ने आदि का ध्यान रखा जाता है। 

इसके साथ ही NGO समाज में अनेक प्रकार के काम करते है जैसे गरीब लड़के लडकियों के लिए सामूहिक विवाह का आयेजन करना, महिला सुरक्षा, बाल विवाह रोकना, बाल मजदूरी रोकना, अनाथ आवारा पशुओ की देखभाल, बीमारी से जूझ रहे लोगों के लिए काम करना, पर्यावरण संरक्षण से जुड़ा कार्य जैसे पेड़ पोधे लगाना, जल संवर्धन, कूड़ा कचड़ो की रोकथाम, सफाई आदि, देश में किसी आपदा के समय समाज की मदद करना आदि महत्वपूर्ण कार्य एक NGO के द्वारा समाज में किया जाता है ताकि समाज का कल्याण हो सके।  

एनजीओ कितने प्रकार के होते है?

अपने कार्य और कार्य के क्षेत्र के अनुसार एनजीओ को कई प्रकार में बांटा गया है जो की है 

BINGO:- BINGO का फुल फॉर्म Business-friendly International Non-Governmental Organization होता है। BINGO एक प्रकार का Business Friendly NGO होता है जो गरीब लोगो को रोजगार करने में सहायता प्रदान करती है। 

ENGO:- ENGO का फुल फॉर्म Environmental Non-Governmental Organization होता है। ENGO एक प्रकार का Environmental NGO होता है जो पर्यावरण से जुड़ी कार्य करते है जैसे पेड़ पौधों लगाना, कूड़ा कचरा की रोकथाम, सफाई करना, लोगो को पर्यावरण के प्रति जागरूक करना आदि महत्वपूर्ण कार्य करते है। 

GONGO:- GONGO का फुल फॉर्म Government-Organized Non-Governmental Organization होता है। यह NGO सरकार के द्वारा व्यवस्थित किया जाता है और देश के बाकी छोटे बड़े NGO को दिशा निर्देश प्रदान करती है।  

INGO:- INGO का फुल फॉर्म International Non-Governmental Organization होता है। INGO एक इंटरनेशनल एनजीओ होता है जो अंतरराष्ट्रीय परेशानियों से सम्बंधित कार्यो पे काम करता है। 

QUANGO:- QUANGO का फुल फॉर्म Quasi-Autonomous National Government Organization होता है। QUANGO उत्पाद की गुणवत्ता की जांचने का कार्य करती है।

एनजीओ शुरू कैसे करे?

दोस्तों अगर आपके अन्दर समाज के प्रति कुछ करने का जज्बा है आप समाज के गरीब असहाय लोगों के लिए कुछ करना चाहते है जिससे समाज का कल्याण हो सके तो इसके लिए आप एक NGO शुरू कर सकते है और फिर उस NGO के द्वारा समाज में कुछ अच्छा कल्याणकारी काम कर सकते है। 

NGO शुरू करने के लिए सबसे पहले आपके दिल में समाज के प्रति कुछ करने का जज्बा होना चाहिए NGO एक गैर लाभकारी संगठन होता है यानी इसे आप अपने स्वार्थ के लिए उपयोग नहीं कर सकते इसके द्वारा आपको समाज के प्रति कुछ करना होता है जिससे समाज में किसी का भला हो सके। 

NGO शुरू करने के लिए आपको सबसे पहले एक ऐसा टीम बनाना होगा जिसके अंदर भी समाज के प्रति कुछ करने का जज्बा हो और वह बिना किसी स्वार्थ के आपके इस गैर लाभकारी संगठन में अपना योगदान दे सके। 

फिर आपको यह सुनिश्चित करना होता है की आप NGO के द्वारा समाज में किस क्षेत्र में काम करना चाहते है आप अनाथ गरीब बच्चो के शिक्षा के क्षेत्र में काम करना चाहते है या समाज के पर्यावरणीय समस्याओ जैसे पेड़ पोधे लगन कूड़ा कचरा के रोकथाम आदि यानि आपको अपना Vision, Mission और Objects Decide करना पड़ता है। 

इसके बाद आप समाज में जमीनी स्तर पे अपने NGO के द्वारा काम कर समाज के प्रति अपना योगदान दे सकते है इसके लिए आप अपना NGO का रजिस्ट्रेशन करा सकते है या आप बिना रजिस्ट्रेशन कराए भी समाज के प्रति अपना योगदान दे सकते है। 

लेकिन अगर आप चाहते है की आप अपने NGO के द्वारा समाज के कुछ बड़े हिस्से के लिए काम करे तो इसके लिए फिर आपको Donation की जरुरत पड़ेगी और इसके लिए आपको अपना एनजीओ रजिस्ट्रेशन करना पड़ेगा क्यूंकि बिना रजिस्ट्रेशन आप किसी से Officially Donation नहीं ले सकते है। 

एनजीओ रजिस्ट्रेशन कैसे करे? (NGO Registration Online in Hindi)

दोस्तों अगर आप NGO के द्वारा समाज के लिए कुछ करना चाहते हो और इसके लिए आप अपना NGO का रजिस्ट्रेशन करना चाहते हो तो एनजीओ रजिस्ट्रेशन कैसे करे? यानी NGO registration online in hindi की बात करे तो इसके लिए हमारे देश में 3 Acts बनाए गए है जो की इस प्रकार है। 

Trust Act

  • हमारे देश में अलग अलग राज्यों में अलग अलग ट्रस्ट अधिनियम (Trust Act) है और जिन राज्यों में अपना Trust Act नहीं है वहां पे 1882 Trust Act लागू होता है। 
  • Trust Act के अंतर्गत आने वाले NGO में कम से कम 2 Trustees होना चाहिए यानि कम से कम 2 सदस्य होना चाहिए।
  • Trust Act के अंतर्गत NGO Registration में 7 दिन से लेकर 22 दिन का समय लगता है। 
  • Trust Act के अंतर्गत NGO Registration कोई धार्मिक समूह जैसे कोई मंदिर वगैरह रजिस्ट्रेशन करते है। 
  • Trust Act के अंतर्गत किसी NGO का Registration करने के लिए Deed Document की जरुरत पड़ती है।

Society Act

  • किसी NGO को Society Act के अंतर्गत Registration करने के लिए NGO में कम से कम 7 सदस्य का होना बहुत जरूरी है। 
  • Society Act के अंतर्गत NGO Registration में 22 दिन से लेकर 60 दिन तक का समय लगता है।
  • अगर किसी NGO को समाज के किसी खास वर्ग समुदाय के लिए काम करना होता है तो वह Society Act के अंतर्गत अपने NGO का Registration करवाते है। 
  • Society Act के अंतर्गत किसी NGO का Registration करने के लिए Memorandum Of Association And Rules And Regulation Document की जरुरत पड़ती है। 

Companies Act

  • Companies Act के अंतर्गत आने वाले NGO में कम से कम 3 सदस्यों का होना जरूरी है।  
  • Companies Act के अंतर्गत NGO Registration में 15 दिन तक का समय लगता है।
  • अगर किसी NGO को पुरे भारत में अपना अलग अलग जगह पे अलग अलग Branches खोलके लोगो की मदद करनी है तो ऐसे NGO को Companies Act के अंतर्गत अपना रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ता है। 
  • Companies Act के अंतर्गत किसी NGO का Registration करने के लिए Memorandum And Articles Of Association And Regulation Document की आवश्यकता होती है।

दोस्तों अगर आपको अपना ये तीनो Acts यानी Trust Act, Society Act, Companies Act या Companies Act में से किसी एक के अंतर्गत अपना एनजीओ का रजिस्ट्रेशन करवाना है तो आप भारत सरकार के Official Website http://www.thenationaltrust.gov.in/ पे जाकर रजिस्ट्रेशन करवा सकते है। 

एनजीओ रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया क्या है? (NGO Registration Process in Hindi)

दोस्तों ऑनलाइन एनजीओ रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया क्या है? यानी online NGO registration process in hindi की बात करें तो इसमें आपको काफी सारे online process करना होगा जो कि इस प्रकार है। 

  • General Details
  • Address Details
  • Bank Details
  • Registration Details
  • Establishment Details
  • Beneficiary Details
  • Report Attachment
  • Document Attachment
  • Payment Details
  • Payment Verification

एनजीओ रजिस्ट्रेशन फीस कितनी है? (NGO Registration Fees in Hindi)

दोस्तों एनजीओ रजिस्ट्रेशन फीस कितनी है यानी NGO registration fees in hindi की बात करे तो आपको बता दे की अलग अलग राज्य में एनजीओ रजिस्ट्रेशन करने की फीस यानी एनजीओ रजिस्ट्रेशन करने में होने वाले खर्च अलग अलग होते है लेकिन एक अनुमानित खर्च की बात करे तो वह कुछ इस प्रकार है। 

Trust Act के अंतर्गत NGO Registration करने में 7 से 8 हज़ार के आस पास खर्च आता है।

Society Act के अंतर्गत NGO Registration में 12 हजार से लेकर 30 हज़ार तक का खर्च आता है।

Companies Act के अंतर्गत NGO Registration करने में 15 हजार से 20 हज़ार तक का खर्च आता है।

तो दोस्तों यह थी एनजीओ की पूरी जानकारी जिसमे हमलोग NGO full form in hindi यानी NGO meaning in hindi के साथ एनजीओ के बारे में वह सभी जानकारी के बारे में जाने जिसकी आपको तलाश था दोस्तों आशा करता हूँ की आप एनजीओ से जुड़ी दी गई जानकारी से आप संतुष्ट है और आपके मन में NGO से जुड़े जितने भी सवाल थे सारे सवालो के जवाब आपको मिल गया होगा। 

एनजीओ का फुल फॉर्म क्या है?

एनजीओ का फुल फॉर्म “Non Governmental Organization” होता है वही हिंदी में एनजीओ का अर्थ “गैर सरकारी संगठन” होता है।

एनजीओ क्या है?

NGO एक गैर सरकारी संगठन यानी Non Governmental Organization होता है यानी एक ऐसा संगठन जिसमे सरकार के किसी भागीदारी के बिना ही देश में समाज में मानव जाति के कल्याण के लिए विभिन्न प्रकार के सामाजिक कार्य करते है।

एनजीओ के उद्देश्य क्या है?

एनजीओ का मुख्य उद्देश्य बिना किसी लाभ के समाज के प्रति कल्याणकारी कार्य करना।

एनजीओ रजिस्ट्रेशन फीस कितनी है?

एनजीओ रजिस्ट्रेशन फीस Trust Act के लिए 7 से 8 हज़ार, Society Act के लिए 12 से 30 हज़ार और Companies Act के लिए 15 से 20 हज़ार रूपए के आसपास है।

इसके अलावा भी दोस्तों अगर आपके मन में NGO से जुड़ी किसी भी प्रकार का सवाल है तो वह आप हमे Comments करके पूछ सकते है मैं पूरा कोशिश करूँगा की आपके सारे सवालो का जवाब दे सकू। 

दोस्तों इसी प्रकार की और Informative Articles  के लिए हमारे साथ जुड़े रहे!

आपका बहुत-बहुत धन्यवाद…!!!

Leave a Reply

Copy not allowed 🙂