NCERT Full Form in Hindi

NCERT Full Form in Hindi: हेल्लो दोस्तों स्वागत है आपका हमारे इस आर्टिकल में, दोस्तों आज हम लोग जानने वाले है की एनसीईआरटी का फुल फॉर्म क्या है? इसके साथ ही हम लोग एनसीईआरटी क्या है? से जुड़े वह सारी बाते भी जानने वाले है जो इस समय आपके मन में आ रहे होंगे। 

तो चलिए दोस्तों NCERT kya hai? से जुड़ी कोई भी जानकारी जानने से पहले हम लोग यह जान लेते है की NCERT ka full form in hindi क्या है?

NCERT Ka Full Form Kya Hai

एनसीईआरटी का फुल फॉर्म “National Council of Educational Research and Training” होता है जिसका हिंदी में अर्थ “राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद” होता है।

NCERT Full Form in Hindi

एनसीईआरटी फुल फॉर्म इन हिंदी की बात करे तो हिंदी में एनसीईआरटी का अर्थ (NCERT meaning in Hindi) “राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद” होता है। 

NCERT Full Form in English

एनसीईआरटी फुल फॉर्म इन इंग्लिश की बात करे तो इंग्लिश में NCERT ka full form “National Council of Educational Research and Training” होता है।

तो दोस्तों यह है NCERT ka full form, दोस्तों हम NCERT के काफी किताबे पढ़ते है तो इस कारण आपको भी  NCERT का नाम काफी ज्यादा सुनने को मिलता होगा और अक्सर आपके दिमाग मे भी एनसीईआरटी से जुड़े काफी सरे सवाल आते होंगे जैसे 

  • एनसीईआरटी क्या है?
  • एनसीईआरटी के उद्देश्य क्या है?
  • एनसीईआरटी के कार्य क्या है?
  • एनसीईआरटी का उदय कैसे हुआ? आदि 

दोस्तों अगर आपके मन में भी एनसीईआरटी से जुड़ी यह सारे सवाल आते है और आपको ये सब सवालो के जवाब का तलाश है तो आप बिलकुल सही आर्टिकल पे आए है आज हमलोग इस आर्टिकल में वह सारे एनसीईआरटी से जुड़ी सवालो के बारे में जानने वाले है जो आपके दिमाग में आ रहे होंगे और मुझे पूरा विस्वास है की इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ने के बाद आपके मन में एनसीईआरटी से जुड़ी जितने भी सवाल है आपको वह सब सवालो का जवाब इस आर्टिकल में मिल जायेगा। 

तो चलिए दोस्तों हम लोग जानते है की NCERT kya hai.

NCERT Kya Hai

एनसीईआरटी का पूरा नाम National Council of Educational Research and Training है जिसका हिंदी में अर्थ राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसन्धान और प्रशिक्षण परिषद है। 

एनसीईआरटी भारत सरकार का एक शैक्षणिक संस्थान है जिसकी स्थापना भारत सरकार के शिक्षा मंत्रालय के द्वारा 27 जुलाई 1961 को किया गया है एनसीईआरटी की स्थापना भारत सरकार के द्वारा स्कूल शिक्षा के क्षेत्र में कल्याणकारी कार्य करने तथा स्कूल शिक्षा से जुड़ी मामलो में केंद्र सरकार और राज्य सरकार को सलाह देने के उद्देश्य से किया गया है।

एनसीईआरटी भारतीय शिक्षा का एक बहुत ही महत्वपूर्ण संगठन है जिसके हाथ में भारतीय शिक्षा के क्षेत्र में सुधार और विकास का जिम्मा होता है। 

एनसीईआरटी के उद्देश्य 

भारतीय शिक्षा के क्षेत्र में एनसीईआरटी के उद्देश्य की बात करे तो वह कुछ इस प्रकार है। 

  • एनसीईआरटी का सबसे मुख्य उद्देश्य है भारतीय शिक्षा पद्धति को दुनिया के सबसे बेहतर शिक्षा पद्धति में से एक बनाना। 
  • एनसीईआरटी का उद्देश्य देश की शिक्षा पद्धति को इस स्तर पे ले जाने का है जहां से देश का विधार्थी दुनिया के किसी भी देश के विधार्थी से आँख में आँख मिला के शिक्षा के क्षेत्र में कड़ी टक्कर दे सके।
  • भारत में शिक्षा को हर एक बच्चा, नागरिकों तक पहुँचाना। 
  • भारतीय शिक्षा पद्धति में स्कूली शिक्षा के लिए विभिन्न भाषाओं में विभिन्न प्रकार के पुस्तकों को प्रकाशित करना। 
  • भारतीय शिक्षा पद्धति में गुणवत्ता लाना और शिक्षा के स्तर को बेहतर बनाना। 
  • भारतीय शिक्षा के क्षेत्र में सुधार के लिए नए नए अनुसंधान (research) को बढ़ावा देना, सहायता देना और समन्वय करना। 
  • भारतीय शिक्षा पद्धति में नीति निर्धारण तत्वों को सम्मिलित करना। 
  • भारत के केंद्र सरकार और राज्य सरकारों को शिक्षा के क्षेत्र में विभिन्न प्रकार के कल्याणकारी सुझाव देना। 
  • देश दुनिया में होने वाले विकास और घटनाओं के आधार पर शिक्षा पाठ्यक्रम में बदलाव लाना और विकसित करना। 
  • स्कूली शिक्षा पाठ्यक्रम, मॉडल शिक्षा पद्धति, समाचार पत्र, साहित्य पत्रिकाओं के प्रकाशन और गुणवत्ता में सुधार लाना। 
  • देश के शैक्षणिक संस्थाओ, शिक्षा विभागों, शिक्षा संगठनो को बेहतर शिक्षा के लिए विकसित करना। 

एनसीईआरटी के कार्य 

भारतीय शिक्षा प्रणाली में एनसीईआरटी के कार्यो के बारे में बात करे तो शिक्षा के क्षेत्र में एनसीईआरटी का कार्य बहुत ही महत्वपूर्ण है जो की निम्न है। 

  • एनसीईआरटी का सबसे मुख्य और महत्वपूर्ण कार्य है देश की शिक्षा के क्षेत्र में कार्य करना जिससे देश की शिक्षा एक बेहतर स्तर में पहुंच सके। 
  • एनसीईआरटी भारत में स्कूली शिक्षा से सम्बंधित सभी नीतियों पर कार्य करती है। 
  • एनसीईआरटी का काम शिक्षा और कल्याण मंत्रालय को विशेषकर स्कूली शिक्षा के संबंध में सलाह देती है और नीति निर्धारित में अहम् भूमिका निभाती है। 
  • एनसीईआरटी भारतीय शिक्षा प्रणाली में कक्षा 1 से 12 तक के किताबो की रूपरेखा तैयार करती है साथ ही उसे प्रकाशित करने का काम भी करती है। 
  • एनसीईआरटी भारतीय शिक्षा पद्धति के संशोधन और प्रोत्साहित के दिशा में विभिन्न प्रकार से योगदान देते है। 
  • भारतीय शिक्षा प्रणाली में स्कूलों में शिक्षा पद्धति में समय समय पे लाए गए बदलाव और विकास को लागू करना करने का काम एनसीईआरटी के द्वारा किया जाता है। 
  • केंद सरकार राज्य सरकारों और अन्य शैक्षणिक संगठनों को स्कूली शिक्षा से जुड़ी महत्वपूर्ण सलाह देने का काम भी एनसीईआरटी के द्वारा किया जाता है।
  • समय समय पे देश और दुनिया के बदलावों के आधार पे किताबों में संशोधन का काम भी एनसीईआरटी करती है। 
  • नवीनतम वैज्ञानिक और तकनीकी शिक्षा को बढ़ावा देना जो देश के विकास और आधुनिकरण में अहम् भूमिका निभाती है। 
  • शिक्षा के क्षेत्रों में क्षेत्रीय स्कूल और कॉलेजों के शिक्षा पर निगरानी रखना जिससे सभी को एक गुणवत्ता की शिक्षा हासिल हो सके। 
  • शिक्षा के क्षेत्रों में अनुसंधान को बढ़ावा देना जिससे शिक्षा के क्षेत्र में नए नए महत्वपूर्ण खोज हो सके। 
  • देश में शिक्षा के प्रति प्रत्येक विद्यार्थी का प्रोत्साहन बढ़ाना और मार्गदर्शन करना एनसीईआरटी का काम होता है। 
  • एनसीईआरटी का कार्य देश के हर एक बच्चो, नागरिको के शिक्षा के साथ जोड़ने का होता है ताकि कोई भी बच्चो, नागरिको अपने शिक्षा के अधिकार से वंचित न रह पाए। 
  • एनसीईआरटी का काम देश की शिक्षा को इस स्तर पे ले जाने का है जहां से देश का विद्यार्थी दुनिया के सभी क्षेत्रों में कंधे से कंधा मिलाकर चल सके। 
  • शिक्षा के क्षेत्रों में विभिन्न प्रकार के अभियान के द्वारा देश के नागरिको को शिक्षा के प्रति जागरूक करने का काम एनसीईआरटी के द्वारा समय समय पे किया जाता है ताकि समाज में हर एक व्यक्ति शिक्षित बन सके। 
  • एनसीईआरटी, महिला शिक्षा विभाग (दि डिपार्टमेंट ऑफ वुमेन स्टडीज), जो महिला शिक्षा के क्षेत्र में कार्यरत है। और देश में महिला शिक्षा की दिशा में यह संस्था नीतिगत बदलाव और सलाह का आदान-प्रदान करती है और महिला शिक्षा के क्षेत्र में अपना योगदान देती है। 
  • इसके अलावा देश के कई गैर सरकारी संस्थान भी एनसीईआरटी के साथ मिलकर शिक्षा के क्षेत्र में कार्य कर रहे है और शिक्षा को देश के कोने कोने तक पहुंचाने का काम कर रहे है। 
  • इसी तरह भारत में शिक्षा पद्धति से जुड़े लगभग हर एक कार्य में एनसीईआरटी की भागीदारी किसी न किसी रूप में रहती है।

एनसीईआरटी का उदय 

एनसीईआरटी का उदय भारतीय शिक्षा व्यवस्था में सुधार और विकास के लिए हुआ है। 

एनसीईआरटी की स्थापना भारत सरकार के शिक्षा मंत्रालय के द्वारा 27 जुलाई 1961 किया गया था लेकिन औपचारिक रूप से एनसीईआरटी पे 1 सितम्बर 1961 से शिक्षा के क्षेत्र में अपना कार्य शुरू किया। 

एनसीईआरटी की स्थापना संस्था पंजीयन एक्ट के तहत साहित्य, विज्ञान संबंधी शिक्षा के क्षेत्र में योगदान देने के उद्देश्य से किया गया है। 

एनसीईआरटी का मुख्यालय भारत की राजधानी नई दिल्ली के श्री अरुबिंदो मार्ग नामक स्थान पर स्थित है। 

एनसीईआरटी के वर्तमान निदेशक (Director) प्रोफेसर हृृृृषीकेश सेनापति हैं जो सितंबर 2015 से इस पद पर अपना कार्यभार संभाल रहे है। 

एनसीईआरटी की स्थापना तत्काल मौजूद 7 राष्ट्रीय संस्थानों को मिलाकर की गई थी जो की थे। 

  1. केन्द्रीय शिक्षा संस्थान (The Central Institute of Education)
  2. राष्ट्रीय बेसिक शिक्षा संस्थान (The National Institute of Basic Education)
  3. राष्ट्रीय मोलिक शिक्षा संस्थान (The National Fundamental Education Center)
  4. केंद्रीय शिक्षक ब्यूरो और व्यावसायिक मार्गदर्शन (The Central Bureau of Education and Vocational Guidance)  
  5. माध्यमिक शिक्षा के लिए विस्तार कार्यक्रम निर्देशलय (The Directorate of Extension Programs for Secondary Education) 
  6. ऑडियो विसुअल शिक्षा राष्ट्रीय संस्थान (The National Institute of Audio-Visual Education)
  7. पाठ्यपुस्तक अनुसंधान केन्द्रीय ब्यूरो (The Central Bureau of Textbook Research) 

केंद्र सरकार ने कुछ विषयों को छोड़कर एनसीईआरटी की किताबें केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) के स्कूलों में कक्षा 1 से लेकर 12वीं तक मान्य है।

वही देश के 14 राज्यों के स्कूल बोर्डों ने भी एनसीईआरटी की किताबों को अपने राज्य में मान्यता दे रखी है और वहा कक्षा 1 से लेकर 12वीं तक की पाठ्यक्रम में एनसीईआरटी की किताबों को शामिल की है। 

तो दोस्तों यह थी NCERT Kya Hai? की पूरी जानकारी जिसमें हम लोग what is ncert full form in hindi के साथ एनसीईआरटी के बारे में वह सभी जानकारी के बारे में जाने जिसकी आपको तलाश था दोस्तों आशा करता हूँ की NCERT से जुड़ी दी गई जानकारी से आप संतुष्ट है और आपके मन में NCERT से जुड़े जितने भी सवाल थे सारे सवालो के जवाब आपको मिल गया होगा। 

एनसीईआरटी का फुल फॉर्म क्या है?

एनसीईआरटी का फुल फॉर्म “National Council of Educational Research and Training” होता है जिसका हिंदी में अर्थ “राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद” होता है।

एनसीईआरटी की स्थापना कब हुई थी?

एनसीईआरटी की स्थापना 27 जुलाई 1961 किया गया था।

एनसीईआरटी का मुख्यालय कहाँ स्थित है?

एनसीईआरटी का मुख्यालय नई दिल्ली के श्री अरुबिंदो मार्ग में स्थित है।

एनसीईआरटी के वर्तमान निदेशक (Director) कौन है?

एनसीईआरटी के वर्तमान निदेशक (Director) प्रोफेसर हृृृृषीकेश सेनापति हैं।

एनसीईआरटी का मुख्य उद्देश्य क्या है?

एनसीईआरटी का मुख्य उद्देश्य है भारतीय शिक्षा पद्धति को दुनिया के सबसे बेहतर शिक्षा पद्धति में से एक बनाना है।

एनसीईआरटी का मुख्य कार्य क्या है?

एनसीईआरटी का मुख्य कार्य शिक्षा और कल्याण मंत्रालय को विशेषकर स्कूली शिक्षा के संबंध में सलाह देना और नीति निर्धारित में अपना योगदान देना।

इसके अलावा भी दोस्तों अगर आपके मन में एनसीईआरटी से जुड़ी किसी भी प्रकार का सवाल है तो वह आप हमे Comments करके पूछ सकते है मैं पूरा कोशिश करूँगा की आपके सारे सवालो का जवाब दे सकू। 

दोस्तों इसी प्रकार की और Informative Articles  के लिए हमारे साथ जुड़े रहे!

आपका बहुत-बहुत धन्यवाद…!!!

Leave a Reply

Copy not allowed 🙂