Full Form of CPT in Hindi | CPT Exam Kya Hai पूरी जानकारी

Full Form of CPT in Hindi: हेल्लो दोस्तों स्वागत है आपका इस आर्टिकल में, दोस्तों आज हम लोग बात करने वाले हैं Full Form of CPT in Hindi के बारे में साथ ही हम लोग CPT details in Hindi के बारे में यानी CPT से जुड़ी सारी जानकारी पूरी details के साथ जानने वाले हैं। जिसके लिए आप इस आर्टिकल पर आए हैं।

तो चलिए CPT से जुड़ी कोई बात जानने से पहले हम लोग यह जानकारी प्राप्त कर लेते हैं कि CPT का फुल फॉर्म क्या होता है? सीपीटी

CPT Ka Full Form Kya Hai?

CPT का फुल फॉर्म क्या है? की बात करें तो CPT Ka Full Form “Common Proficiency Test” होता है। 

Full Form of CPT in Hindi

वही सीपीटी का फुल फॉर्म इन हिंदी यानी CPT Meaning in Hindi की बात करें तो सीपीटी का फुल फॉर्म हिंदी में “सामान्य प्रवीणता परीक्षा” होता है।

दोस्तों, CPT ka full form in Hindi के अलावा भी ऐसे बहुत सारी सीपीटी से जुड़ी जानकारी है जिसके बारे में आपके लिए जानना बहुत ही जरूरी है क्या आपको पता है कि:-

  • CPT क्या है?
  • CPT करने के क्या फायदे हैं?
  • CPT का एग्जाम कौन-कौन कौन दे सकता है?
  • CPT एग्जाम पैटर्न क्या है?
  • CPT एग्जाम सिलेबस क्या है?
  • CPT एग्जाम के लिए आवेदन कैसे करें?
  • CPT  एग्जाम की तैयारी कैसे करें?

दोस्तों अगर आपको CPT से जुड़ी यह सारी जानकारियों के बारे में नहीं पता है तो आप बिल्कुल भी चिंता ना करें क्योंकि आज हम लोग CPT in Hindi से जुड़े यह सारे प्रश्नों के बारे में जानने वाले हैं और मुझे पूरा विश्वास है कि CPT Kya Hota Hai? का यह आर्टिकल पढ़ने के बाद आपके मन में CPT information in Hindi से जुड़े जितने भी सवाल है सारे सवालों के जवाब आपको इस आर्टिकल में मिल जाएगा।

CPT Exam Kya Hai? (What is CPT in Hindi)

CPT Exam Kya Hai की बात करे तो CPT जिसका पूरा नाम Common Proficiency Test है यह एक प्रकार का प्रतियोगी परीक्षा यानि Competitive Exam है जिसे पास करके CA यानी Chartered Accountants Course में एडमिशन लिया जा सकता है।

यानी जो स्टूडेंट्स Chartered Accountants Course में प्रवेश लेना चाहते है, उनको यह Test देना पड़ता है. Chartered Accountants कोर्स में प्रवेश लेने के लिए इस सीपीटी परीक्षा को पास करना अनिवार्य होता है. CPT को CA- CPT भी कहा जाता है।

दोस्तों अगर आपको जानना है की CA यानी Chartered Accountants क्या होता है? CA के फायदे क्या है? CA करने के बाद सैलरी कितनी मिलती है तो आप नीचे दिए गए लिंक पे क्लिक करके CA के बारे में आसान भाषा में पूरी complete जानकारी जान सकते है। 

CA Course in Hindi | CA Kya Hai | सीए कोर्स की पूरी जानकारी

आज के युग में सभी लोग 10वीं और 12वीं के बाद अच्छे भविष्य के लिए अच्छे नौकरी पाना चाहते हैं, ऐसे में जो छात्र सीए की नौकरी पाना चाहते हैं उनके लिए यह परीक्षा बहुत ही अच्छा है। चार्टर्ड अकाउंटेंट बनने के लिए आपको सीपीटी एग्जाम देना होगा। सीपीटी के एग्जाम के बाद आप सीए की अगली प्रक्रिया में भाग ले सकते हैं। सीपीटी की परीक्षा के माध्यम से ही आप सीए बन सकते हैं।

CPT Exam Kon Kon De Sakte Hai? (CPT Exam Eligibility in Hindi)

सीपीटी एग्जाम कौन कौन दे सकते है? की बात करे तो 

  • किसी भी बोर्ड से 12वी पास स्टूडेंट्स CPT Exam के लिए आवेदन कर सकते है और CPT Exam दे सकते है।
  • आपको बता दे की CPT Exam के लिए तीनो Steam यानी Science, Commerce और Arts के स्टूडेंट्स आवेदन कर सकते है।
  • पर अगर आप अपनी 12वी की पढाई Commerce Steam से करते है तो आपको इसमें ज्यादा फायदा मिलने वाला है क्यूंकि CA की पढाई Commerce के विषयों से मिलती झूलती है।
  • जून तथा दिसंबर के महीने में होने वाली सीपीटी की परीक्षा में शामिल होने वाले छात्रों को 1 अप्रैल और 1 अक्टूबर से पूर्व या फिर इससे पहले ही पंजीकरण कराना आवश्यक है। क्योंकि उसके बाद पंजीकरण करने की अनुमति नहीं दी जाती है।

CPT Ke Fayde Kya Hai? (Benefits of CPT in Hindi)

सीपीटी के फायदे की बात करे तो इसका सबसे बड़ा फायदा है की ये एग्जाम पास करके आप CA Course में एडमिशन प्राप्त कर सकते है और CA एक बहुत अच्छा Reputed Professional है CA के जॉब  में सैलरी काफी अच्छी दी जाती है। 

CA Course करने के बाद बड़ी बड़ी कंपनी में जॉब प्राप्त कर सकते है या फिर आप खुद का Financial Related Service दे सकते है जिसमे Income काफी ज्यादा होता है। आजकल मार्किट में CA की काफी ज्यादा डिमांड है।

CPT Exam Pattern Kya Hai? (CPT Exam Pattern in Hindi)

सीपीटी के प्रवेश परीक्षा में बैठने के लिए सबसे पहले छात्रों को सीपीटी के परीक्षा पैटर्न के बारे में जानना आवश्यक है। पैटर्न को जान लेने से आपको पता चल जाएगा कि प्रश्नों की संख्या कितनी होगी, अंको का वितरण कैसे किया जाता है, परीक्षा में आपको कितने समय दिया जाएगा और परीक्षा के प्रारूप के बारे में आपको पूरी सही सही जानकारी मिल जाएगी।

सीपीटी परीक्षा पैटर्न के बारे में तरह तरह की चीजों को समझना जैसे विभिन्न सत्र, परीक्षण आवृत्ति, अलग-अलग सत्रों की अवधि आदि में आप गड़बड़ा सकते हैं। ऐसे में आपके लिए सबसे अच्छा यह है कि आप पहले सब कुछ अच्छी तरह से जान ले ताकि आपको बाद में कोई भी डाउट ना हो। इसलिए चलिए जानते हैं सीपीटी प्रवेश परीक्षा का पैटर्न क्या है:-

  • सीपीटी एग्जाम पेपर से दी जाने वाली परीक्षा है। यानी यह एग्जाम Computerise नहीं होती इसे आपको पेन पेपर के साथ देनी होती है 
  • CA CPT Exam को चार भागो में बांटा गया है 
  1. Part 1 – Fundamentals of Accounting and Mercantile Laws, 
  2. Part 2 – Mercantile Laws, 
  3. Part 3 – General Economics 
  4. Part 4 – Quantitative Aptitude.
  • सीपीटी को दो सत्रों में आयोजित किया जाता है।
  • इसमें कुल 200 प्रश्न पूछे जाते है जो MCQ (Multiple Choice Question) होते है
  • प्रत्येक सत्र 2 घंटे का होता है यानी कुल 4 घंटे की अवधि होती है।
  • सीपीटी परीक्षा दो भाषाओं में होती है हिंदी और अंग्रेजी।
  • इसमें नेगेटिव मार्किंग होती है प्रत्येक गलत उत्तर में 0.25 अंक काटे जाते हैं।

CPT Exam Syllabus Kya Hai? (Syllabus of CPT Exam in Hindi)

ICAI यानी इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया सीपीटी का एग्जाम सिलेबस तय करता है। परीक्षा में बैठने से पहले छात्रों के लिए सीपीटी एग्जाम का सिलेबस जानना बहुत ही जरूरी है। परीक्षा के सिलेबस में उन विषयों का उल्लेख किया गया है जो छात्रों को प्रवेश परीक्षा में पहले से तैयारी करनी चाहिए।

इसके सिलेबस को 4 सेक्सन में बांट दिया गया है।

सेक्शन ए:-लेखांकन के मूल सिद्धांत

सिलेबसविषय
सूचीइन्वेंटरी वैल्युएशन तथा रिकॉर्ड कीपिंग का आधार
लिखने की प्रक्रियाट्रायल बैलेंस की तैयारी करने के लिए अग्रणी खातों की पुस्तकें सुधार के साथ मौलिक त्रुटियों की पुंजी और राजस्व की संपत्ति और आकस्मिक देनदारियां पूंजी और राजस्व की प्राप्ति
सैद्धांतिक ढांचालेखांकन का अर्थ और लेखांकन की नीति लेखांकन मानक- अवधारणाएं, उद्देश्य, लाभ लेखांकन अवधारणाएं सिद्धांत और परंपराए 1 माप अनुशासन के रूप में लेखांकन-मूल्यांकन का सिद्धांत लेखांकन का अनुमान
बैंक समाधान विवरण                            –
मूल्यह्रास लेखांकनमूल्यह्रास के तरीके, गणना और लेखांकन उपचार, मूल्यह्रास की विधियों में बदलाव।
जरूरी लेनदेन के लिए लेखांकनखेप संयुक्त उपक्रम विनिमय और वचन पत्र के बिल अनुमोदन या वापसी के आधार पर माल की बिक्री
एकल स्वामी के लिए अंतिम खाता तैयार करना                              –
कंपनी के खातों का पहचानशेयरों की जब्ती शेयर और डिवेंचर जारी करना जब्त शेयरों का पुनः निर्गम वरीयता शेयरों का मोचन
जॉइंट खातासाझेदारी फर्मों के अंतिम खाते सद्भावना के उपचार सहित एक साथी के प्रवेश सेवानिवृत्ति और मृत्यु की बुनियादी अवधारणाएं

सेक्शन बी:- व्यापारिक कानून

सिलेबसविषय
माल की बिक्री अधिनियम,1930बिक्री के अनुबंध का गठन शर्ते और वारंटी माल के स्वामित्व और वितरण का हस्तांतरण अवैतनिक विक्रेता और उसके अधिकार
भारतीय बिक्री अधिनियम,1872अनुबंध के सामान्य प्रकृति, प्रतिफल और वैध अनुबंध के अन्य आवश्यक तत्वों को शामिल करते हुए धारा 1 से 75 एक सिंह अवलोकन, अनुबंध का परदर्शन, अनुबंध का उल्लंघन।
भारत भागीदारी अधिनियम,1932साझेदारी का सामान्य प्रकृति भागीदारों का अधिकार और कर्तव्य एक फॉर्म का रजिस्ट्रेशन और विघटन।

सेक्शन सी:-सामान्य अर्थशास्त्र

सेक्शनविषय
भारतीय आर्थिक विकासभारतीय अर्थव्यवस्था- एक रूपरेखाभारतीय अर्थव्यवस्था की प्रकृतिविभिन्न क्षेत्रों की भूमिकाभारत की राष्ट्रीय आयभारत की कर प्रणाली के बुनियादी समझ
भारतीय अर्थव्यवस्था के पहलुओं का चयन करेंजनसंख्यागरीबीबेरोजगारीइंफ्रास्ट्रक्चरमुद्रास्फीतिबजट और राजकोषीय घाटाभुगतान संतुलनबाहरी कर्ज
भारत में आर्थिक सुधार1991 के बाद से आर्थिक सुधारों की विशेषताएंउदारीकरण, निजीकरण और विनिवेशवैश्वीकरण
धन और बैंकिंग
पैसावाणिज्यिक बैंकभारतीय रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया
व्यष्टि अर्थशास्त्रसूक्ष्म अर्थशास्त्र का परिचयअर्थशास्त्र की परिभाषा, दायरा और प्रकृतिआर्थिक अध्ययन के तरीकेएक अर्थव्यवस्था और उत्पादन की संभावना वक्र की केंद्रीय समस्याएं
मांग और आपूर्ति सिद्धांतमांग का अर्थ और निर्धारकउपभोक्ता के व्यावहार का सिद्धांतआपूर्ति का अर्थ और निर्धारक
उत्पादक और लागत का सिद्धांतउत्पादन का अर्थ और कारकउत्पादन के नियमलागत की अवधारणाएं
विभिन्न बाजारों में मुल्य निर्धारणबाजारों की विभिन्न रूपबाजारों में मूल्य निर्धारण

सेक्शन डी:-मात्रात्मक योग्यता

असमानतादो चरो में असमानताओं के रेखांकन
समीकरणरैखिक तीन चर तक एक साथ रेखिक समीकरण, एक चर में द्विघात में घन समीकरण
केंद्रीय प्रवृत्ति और फैलाव के उपायअंकगणित माध्य, माध्यिका, बहुलक, चतुर्थक विचलन आदि।
डेटा का सांख्यिकी विवरणडाटा का शाब्दिक, सारणीबध्द और आवृत्ति विवरण बारंबारता बंटन आदि।
सैद्धांतिक वितरणद्विपद पॉइसन और सामान्य
नमूना सिद्धांतनमूना सिद्धांत के मूल सिद्धांत नमूना सर्वेक्षण और पूर्ण गणना के बीच तुलना नमूना सर्वेक्षण में त्रुटियां नमूना करण से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण शब्द नमूने के प्रकार अनुमान का सिद्धांत और नमूना के आकार का निर्धारण।

CPT Exam Ke Liye Aavedan Kaise Kare? (How To Apply For CPT Exam in Hindi)

यदि आप इस परीक्षा में आवेदन करना चाहते हैं तो आपको अपना पंजीकरण करने के लिए इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंट ऑफ इंडिया की ऑफिसियल वेबसाइट https://icaiexam.icai.org/ पर जाकर रजिस्ट्रेशन करना होगा।

CPT Exam Ki Taiyari Kaise Kare? (How to prepare for CPT exam in hindi)

पीपीटी एग्जाम की तैयारी करने के लिए आपको निम्नलिखित कार्य करना चाहिए:-

  1. टाइम टेबल बनाएं
  2. सीए फाउंडेशन की कोचिंग ज्वाइन कर ले
  3. कैलकुलेटर पर अपनी कमांड अच्छी बनाएं
  4. बार-बार लिखकर प्रयास करें
  5. मॉक टेस्ट पेपर को सॉल्व करें

उपरोक्त कार्यों को अगर आप अपने जीवन में ढालते हैं तो आप अवश्य सीपीटी एग्जाम में सफलता प्राप्त करेंगे।

तो दोस्तो यह है CPT की पूरी जानकारी जिसमें हमलोग CPT फूल फॉर्म इन हिंदी (Full Form of CPT in Hindi) के साथ – साथ CPT के बारे में वह सारी जानकारी के बारे में जाने जिसकी आपको तलाश थी दोस्तो आशा करती हूं कि आप CPT से जुड़ी दी गई जानकारी से आप संतुष्ट है और आपके मन में CPT से जुड़े जितने भी सवाल थे सारे सवालों के जवाब मिल गया होगा।

सीपीटी का फुल फॉर्म क्या है?

CPT का फुल फॉर्म “Common Proficiency Test” होता है। जिसका हिंदी में अर्थ “सामान्य प्रवीणता परीक्षा” होता है।

सीपीटी क्या है?

CPT जिसका पूरा नाम Common Proficiency Test है यह एक प्रकार का प्रतियोगी परीक्षा यानि Competitive Exam है जिसे पास करके CA यानी Chartered Accountants Course में एडमिशन लिया जा सकता है।

सीपीटी एग्जाम कौन दे सकते है?

12वी पास स्टूडेंट्स सीपीटी एग्जाम दे सकते है।

सीपीटी एग्जाम कितने प्रश्न पूछे जाते है?

सीपीटी एग्जाम में कुल 200 प्रश्न पूछे जाते है।

सीपीटी एग्जाम में कितना समय दिया जाता है?

सीपीटी एग्जाम में कुल 4 घंटे का समय दिया जाता है।

सीपीटी एग्जाम में नेगेटिव मार्किंग कितनी है?

सीपीटी एग्जाम में 0.25 नेगेटिव मार्किंग है।

इनके अलावा भी दोस्तो अगर आपके मन में CPT से जुड़ी किसी भी प्रकार का सवाल है तो आप हमें comments करके पूछ सकते है और मै पूरा कोशिश करूंगी की आपके सारे सवालों का जवाब दे सकूं।

दोस्तों,इसी प्रकार के informative articles के लिए हमारे साथ जुड़े रहे!

आपका बहुत-बहुत धन्यवाद…!!!🙏🙏🙏

Leave a Reply

Copy not allowed 🙂